Kya Hain Hastmaithun Ke Nuksan Aur Fayde?

Kya Hain Hastmaithun Ke Nuksan Aur Fayde?

क्या हैं हस्तमैथुन के नुकसान और फायदे?

हस्तमैथुन करें या ना करें?

आधुनिक चिकित्सक हस्तमैथुन को हानिकारक नहीं मानते हैं, जबकि आयुर्वेद चिकित्सकों के अनुसार मुठकरनी से शारीरिक और मानसिक तौर पर बहुत नुकसान होता है। हस्तमैथुन से वीर्य अति पात होता है और जवानी के मोड़ पर पहुंच कर आज के युवा खुद को नपुंसक महसूस करने लगते हैं।

हस्तमैथुन करते क्यों हैं?

हस्तमैथुन की बुरी लत किशोरावस्था में दूसरे हम उम्र लड़कों के साथ ज्यादा मित्रता और अकेले यानी एकांत मिलने के कारण होती है। होस्टलों में रहने वाले लड़के हस्तचलन की आदत के ज्यादा शिकार होते हैं। लड़के तो लड़के इस आुधनिक दौर में लकड़ियों में भी मुठकरनी की लत गति से बढ़ रही है।

Kya Hain Hastmaithun Ke Nuksan Aur Fayde?

आधुनिक यौन स्वच्छंद वातावरण में अश्लील फिल्मों के देखने से उत्पन्न कामोत्तेजना किशोरों में हस्तचलन की अधिक कुवृत्ति उत्पन्न करती है। स्कूल व कॉलेजों का वातावरण भी कामोत्तेजना को बढ़ावा देकर युवाओं को हस्तचलन की ओर प्रेरित करता है। बसों में अधिक भीड़ होने पर लकड़ियों से स्पर्श की अनुभूति शरीर में कामेच्छा को मजबूत करती है और युवक हस्तचलन करके कामेच्छा को शांत करते हैं।

आप यह आर्टिकल hastmaithun.co.in पर पढ़ रहे हैं..

हस्तमैथुन के लक्षण क्या हैं?

मुठकरनी की आदत से वीर्य का अधिक मात्रा में बह जाने के कारण दिमाग को बहुत नुकसान पहुंचता है। याद रखने की क्षमता अधिक कमजोर हो जाने से युवक शिक्षा के क्षेत्र में पिछड़ जाते हैं। कुछ याद नहीं रख पाने के कारण परीक्षा में उत्तीर्ण नहीं हो पाते। हस्तचलन की लत से सिर में दर्द बना रहता है। कुर्सी से उठकर खड़े होने, सीढ़ियां चढ़ने पर आंखों के आगे अंधेरा छा जाता है। कभी-कभी तो चक्कर भी आने लगते हैं।

मनोवैज्ञानिक रूप से हस्तचलन से पीड़ित नवयुवक संकोची स्वभाव के हो जाते हैं और उनमें सबसे अलग रहने की आदत बन जाती है। उनके मन में यह भय बना रहता है कि कोई उनकी लत को पहचान लेगा तो उन्हें बहुत बेइज्जत होना पड़ेगा। ऐसे नवयुवक लकड़ियों से बातें करते हुए भी बहुत झिकते हैं।

हस्तमैथुन की लत है तो ये खाएं?

– हर रोज ज्यादा से ज्यादा दही खायें।

– हल्के, सुपाच्य खाद्य पदार्थों का सेवन करें।

– भोजन के साथ प्रतिदिन खीरा, ककड़ी, टमाटर, मूली का सलाद बनाकर नींबू का रस मि लाकर सेवन करें।

– गाजर, गन्ने का रस, संतरे, मौसमी का रस, अनन्नास का रस पिएं।

– केले को काटकर उसमें शहद मिलाकर खाएं।

– अनार के छिलकों को पीसकर, जल में मिलाकर, छानकर पिएं।

– जामुन की गुठली को कूट-पीसकर चूर्ण बनाकर 3-3 ग्राम चूर्ण सुबह-शाम पानी के साथ पिएं।

– हरी सब्जियां, पालक, बथुआ, मेथी, घीया, तोरई, टिंडे की सब्जी खाएं, लेकिन उनमें मिर्च-मसालों का प्रयोग ज्यादा न करें।

– दूध पिएं मगर ठंडा करने बाद।

– सूखे धनिए को कूटकर छानकर रखें। 3 ग्राम चूर्ण मिसरी मिलाकर पानी के साथ सेवन करें।

– आंवले, गाजर, सेब का मुरब्बा हर रोज खाएं और ऊपर से दूध पिएं।

– Hand Practice के रोगी कोष्ठबद्धता से सुरक्षा के लिए रात्रि को सोने से पहले त्रिफला चूर्ण हल्के गर्म जल से सेवन करें।

– काले तिल व गोखरू कूट-पीसकर दूध में देर तक उबालें। आधा दूध बच जाने पर पिएं। Hand Practice की आदत व कमजोरी दूर होती है।

– बेल के पत्तों के रस में मधु मिलाकर गुप्तांग पर लेप करने से Hand Practice से उत्पन्न विकृति नष्ट होती है।

हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान-

Hand Practice से हानि तब पहुंचती है, जब इसकी लत ही लग जाये। पर अगर एक लिमिट तक ही आप हस्तचलन करें, तो इससे शारीरिक और मानसिक तौर पर लाभ मिलता है।

आइये पहले हम जान लेते हैं हस्तमैथुन के फायदे क्या हैं :-

hastmaithun.co.in

जब किसी लड़के या पुरूष के पास अपना कोई ऐसा पार्टनर या साधन नहीं होता जिसके साथ वह मैथुन करके अपनी जिस्मानी प्यास को शांत कर सके, तब उनकी एक परेशानी होती है की आखिर वे अपनी कामेच्छा को शांत करे तो कैसे करें। Hand Practice का सबसे पहला फायदा यही है की बिना पार्टनर के भी अपनी सेक्स-इच्छा को शांत कर सकते हैं

Hand Practice करने की आदत ना हो और कंट्रोल में रह कर करें तो हस्तचलन से पुरुष के वीर्य की गुणवत्ता बढ़ती है और प्रॉस्टेट(पौरूष ग्रंथि) भी स्वस्थ रहता है।

– संभोग का पूरा आंनद तभी मिलता है, जब सिर्फ आप ही नहीं, बल्कि आपका पार्टनर भी मूड में हो। पर जब किसी एक का भी मूड ना बने तो दूसरे का मूड भी खराब होता है। पर Hand Practice में ऐसी कोई समस्या नहीं होती।

Hand Practice करने से कुछ हद तक संभोग जैसा आदंन या अनुभव मिल जाता है, जिससे शादीशुदा व्यक्ति के जीवन में उसे संभोग का पूरा आंनद लेने में मदद मिलती है।

संभोग के बाद हर स्त्री को गर्भवती होने का डर होता है और इस बात से पुरुष भी तनाव में रहने लगता है कि कहीं उसकी पार्टनर सेक्स में लापरवाही के कारण गर्भवती ना हो जाये। – Hand Practice का एक फायदा ये भी है कि स्त्री करे तो उसे मजा तो आता ही है साथ ही गर्भवती होने का डर भी नहीं होता और अगर पुरुष करे तो वह भी तनाव से दूर रहता है

Hand Practice की चाह केवल पुरूषों में ही नहीं होती, बल्कि स्त्रियां भी हस्तचलन करती है। कई बार सेक्स के दौरान पुरूष के शीघ्र स्खलित हो जाने के कारण स्त्री तृप्त नहीं हो पाती। ऐसे में Hand Practice के जरिये स्त्री चरम सुख पा सकती है

– Hand Practice में एक फायदा ये भी है कि महिला हो या पुरुष दोनों का गुप्तांग हेल्थी रहता है।

– पुरुष जब कामातुर होकर सेक्स करता है तो अक्सर उसका शीघ्र स्खलन हो जाता है। हस्तक्रिया करने से पुरुष अपने आप पर काबू रख पाता है, जिससे वह सेक्स के समय शीघ्रपतन की समस्या से बच जाते  है।

– हस्तक्रिया रात को करें तो सिर का दर्द ठीक होता है और नींद भी अच्छी आती है। तनाव कम करने में भी हस्तक्रिया
से राहत मिलती है।

– अक्सर सुना जाता है कि हस्तक्रिया करने से प्रजनन क्षमता कम होने लगती है, यह धारणा बिलकुल गलत है। इससे ना ही प्रजनन क्षमता में कमी आती है और ना ही कामेच्छा में कोई कमी आती है, बल्कि खुद को नियंत्रण में करके Hand Practice करना एक तरह से व्यायाम ही है और इससे लिंग की नसों की कमजोरी भी दूर होती है।

हस्तमैथुन से होने वाली हानि :

– अति हर चीज की बुरी होती है नुकसानदायी होती है यानी कोई भी चीज नुकसान तब करती है, जब उसकी अति हो जाये। हस्तक्रिया बुरा नहीं है या सेहत के लिए नुकसानदायी नहीं है, नुकसानदायी है इसका(हस्मैथुन) अधिक मात्रा में करना। हस्तक्रिया ज्यादा करने पर एकाग्रता में कमी, शारीरिक कमजोरी और लिंग में सूजन जैसी समस्याएं आने लगती हैं।

– हस्तक्रिया से पहुंचने वाली शारीरिक और मानसिक हानि आपको अपने व्यक्तिगत जीवन में भी दिखाई देता है। जैसे कि साथी के साथ संभोग में अधिक रूचि ना होना या फिर सेक्स में आंनद ना आना।

– अगर हस्तक्रिया रोजाना करें तो इससे गुप्त अंग को आराम नहीं मिलता। ज्यादा हस्तक्रिया से लिंग की नसों में कमजोरी आने लगती है, जिससे लिंग की उत्तेजना में कमी आने लगती है।

– हस्तक्रिया ज्यादा करने से वीर्य के द्वारा प्रोटीन शरीर से बाहर निकल जाता है, जिससे शरीर का मेटाबॉलिज्म रेट कम होने लगता है, जिस कारण शरीर का विकास सही तरीके से नहीं होता और शरीर में कमजोरी आने लगती है।

Kya Hain Hastmaithun Ke Nuksan Aur Fayde?

हस्तमैथुन से छुटकारा पाने के उपाय :

हस्तक्रिया की लत छोड़ने के लिए सबसे पहले अपनी इच्छा शक्ति को मजबूत करना बहुत जरूरी है।

हस्तक्रिया के उपचार में मैडिटेशन(ध्यान) करना बेहद लाभदायक होता है।

विचारों की शुद्धि के लिए अच्छी किताबें पढ़ना शुरू करें।

अश्लील वीडियो और फोटो ना देखें।

सेक्स पर आधारित मुद्दे या टाॅपिक पर कोई भी चर्चा न करें इन बातों से खुद को दूर रखें।

सेक्स समस्या से संबंधित अन्य जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें..http://chetanclinic.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *