Hastmaithun Kitni Baar Karna Chahiye

Hastmaithun Kitni Baar Karna Chahiye

हस्तमैथुन कितनी बार करना चाहिए?

Masturbation Treatment, Hastmaithun Ka Ilaj, Masturbate Side Effect

हस्तमैथुन (Masturbation) की चर्चा पर आगे बढ़ने से पहले यह जान लेते हैं कि आखिर हस्तमैथुन होता क्या है? (What is Masturbation) और क्यों करते हैं?

जब कोई पुरूष/पति या स्त्री/पत्नी उत्तेजित होने पर अपनी कामेच्छा (Sexual Desire) को शांत करने के लिए आप्रकृतिक तरीके से यानी पुरूष हस्त द्वारा और स्त्री हस्त की अंगुलियों द्वारा अपने गुप्तांगों को सहला कर, घर्षण करके वीर्य को स्खलित करवा कर अपनी कामसुधा को शांत करते हैं, तो वह प्रक्रिया हस्तमैथुन कहलाती है। सरल भाषा में हस्तमैथुन को परिभाषित किया जाये तो हाथ से अपने लिंग (Penis) को सहला कर या घर्षण करके वीर्यपात करवाने की क्रिया को हस्तमैथुन कहते हैं।

आप यह हिंदी लेख Hastmaithun.co.in पर पढ़ रहे हैं..

अब अगला प्रश्न उठता है कि हस्तमैथुन क्यों करते हैं? तो यह तो आप भी जान ही गये होंगे कि हस्तमैथुन उस स्थिति में किया जाता है या यूं सकते है कि पुरूष उस परिस्थिति में हस्तमैथुन करने के लिए विवश हो जाते हैं, जब उनकी उत्तेजना अपने चरम पर हो और उनके पास इसे शांत करने के लिए कोई साधन उपलब्ध न हो जैसे- स्त्री, पत्नी या अन्य कोई भी महिला साथी। तब इस स्थिति में पुरूष एकांत में अपने हाथों से लिंग को सहला कर व घर्षण द्वारा वीर्य बाहर निकाल देते हैं।

हस्तमैथुन क्या है और क्यों किया जाता है, इस पर तो चर्चा हो गई। अब सबसे अहम प्रश्न और विचार यह उठता है कि आखिर हस्तमैथुन करने की सीमा क्या है? यानी एक पुरूष को हफ्ते में या फिर महिने में कितनी बार हस्तमैथुन करना चाहिए?

दरअसल हस्तमैथुन की लत पड़ जाना विशेषकर युवा उम्र में सरल व स्वाभाविक होता है। यदि पुरूष अपनी किशोरावस्था में ही यह जान लें कि हस्तमैथुन की अधिकता उन्हें भविष्य में परेशान कर सकती है, उनके विवाहित जीवन को नरक बना सकती है, तो वह आज से कोशिश करके अपनी इस आदत से छुटकारा पा सकते हैं या फिर हस्तमैथुन करना बहुत कम कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें- शीघ्रपतन

किस उम्र में और कितनी बार हस्तमैथुन कर सकते हैं?

Hastmaithun Kitni Baar Karna Chahiye

हस्तमैथुन यूं तो लड़के व लड़कियां दोनों ही करते हैं, मगर लड़कियों की अपेक्षा लड़के यानी पुरूष हस्तमैथुन में ज्यादा दिलचस्पी लेते हैं। लड़कों का अपनी कामोत्तेजना पर नियंत्रण कम होता है, इसलिए वह कम उम्र से ही हस्तमैथुन आरम्भ कर देते हैं और अधिक करते हैं, जोकि नुकसानदायक सिद्ध हो सकता है।

हस्तमैथुन में अगर उम्र की बात की जाये, तो 20-21 से कम के पुरूष प्रतिदिन हस्तमैथुन करते हैं, तो उन्हें कोई खास दिक्कत नहीं होती है। हां, अगर यही हस्तमैथुन रोजाना 20 से 21 वर्ष के पुरूष करें, तो यह सही नहीं है। उन्हें ऐसा ना करने की हम सलाह देते हैं। दरअसल 20 से 22 साल की उम्र लड़कों की अच्छी ग्रोथ (Growth) की होती है। इस उम्र में उन्हें अगर ज्यादा हो तो हफ्ते में 2 दिन हस्तमैथुन करना चाहिए।

यह भी पढ़ें- सुहागरात टिप्स

अधिक हस्तमैथुन करने से वीर्य अधिक नष्ट होता है, जिस कारण उतनी ही अधिक मात्रा में एनर्जी भी नष्ट हो जाती है, जिससे लड़कों का टेस्टमोन हार्मोन का स्तर कम होने लगता है, जोकि गलत है। ऐसा करने से लड़कों का विकास रुक जाता है। महीने में गिनती की जाये तो 10 से 15 बार हस्तमैथुन करना गलत नहीं है और ऐसा करने से पुरूषों के गुप्तांग भी स्वस्थ रहते हैं।
उम्मीद करते हैं कि यह हिंदी लेख पढ़कर आप भली-भांति जान गये होंगे कि अपनी हस्तमैथुन की लत को लेकर आपको क्या करना है और कितना करना है? आखिर सवाल आपके स्वास्थ्य और विवाहित जीवन का है, इसलिए अच्छी बातें और आदतें अपने जीवन में जरूर शामिल करें।

सेक्स समस्या से संबंधित जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें..http://chetanclinic.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *