Hastmaithun Ki Aadat Se Chutkara Pane Ke Upay

Hastmaithun Ki Aadat Se Chutkara Pane Ke Upay

हस्तमैथुन की आदत से छुटकारा पाने के उपाय

हस्तमैथुन की जानकारी-

आज के दौर में युवाओं में हस्तमैथुन करने का चलन अत्यधिक बढ़ गया है। या यूं कह लो कि एक लत सी पड़ गई है हस्तमैथुन की। बचपन में कच्ची उम्र की ये गलती जो खेल-खेल में शुरू की थी, जवानी में भी दीमक की तरह शरीर से चिपक कर शरीर को खोखला कर रही है।

कई पुरूष हैं जो इस लत से मुक्ति पाना चाहते हैं, मगर चाहकर भी वे ऐसा नहीं कर पा रहे, क्योंकि उन्हें हस्तमैथुन की आदत पड़ गई है। पूरे दिन में 2 से 3 बार तक हस्तमैथुन कर लेते हैं, तब जाकर कहीं चैन पड़ता है उनके अरमानों को। ऐसा नहीं है कि वो कोशिश नहीं करते।

करते हैं कोशिश और एक-दो दिन अपने आप पर काबू भी कर लेते हैं, मगर तीसरे दिन फिर अपनी पुरानी हरकत(हस्तमैथुन करना) पर उतर आते हैं।

Hastmaithun Ki Aadat Se Chutkara Pane Ke Upay

इस प्रकार की समस्या एक अकेले पुरूष की नहीं है, सबके साथ ही रोना लगा हुआ है कि छोड़ना तो चाहते हैं, मगर छूटता नहीं।
ऐसे ही भाईयों की समस्या के निदान के लिए हम यहां कुछ उपाय बता रहे हैं, जिन्हें अगर पूरे दिल से और दृढ़ निश्चय किया जाये, तो अवश्य ही आपकी हस्तचलन की आदत छू मंतर हो जाएगी..

यह आर्टिकल आप hastmaithun.co.in पर पढ़ रहे हैं..

1. पोर्न वीडियो देखने से बचें:

hastmaithun.co.in

यह एक सच्चाई है कि ज्यादातर पुरूष तब हस्तमैथुन करते हैं, जब वे कोई अश्लील वीडियो या पोर्न वीडियो देखते हैं। एक बार अश्लील वीडियो देखना शुरू किया तो तभी रूकते हैं, जब तक हस्तक्रिया न कर लें। इसका सीधा-सादा मतलब यह हुआ कि अगर आप अश्लील वीडियो देख रहे हैं, तो एक प्रकार से हस्तचलन ही कर रहे हैं। हस्तचलन की लत में पोर्न वीडियो की अहम भुमिका होती है।

इसे भी पढ़ें- स्वप्नदोष

2. खुद को व्यस्त रखें:

कहते हैं खाली घर और खाली दिमाग शैतान का घर और दिमाग होता है। यानी अगर आप खाली बैठे हैं और आपके पास कोई खास काम करने के लिए नहीं है, तो ऐसी स्थिति में खुद-ब-खुद आपका ध्यान अश्लील विचारों की तरफ घूमने लगता है और आप न चाहते हुए भी पोर्न देखते हुए या किसी भी अश्लील एक्टिविटी का सहारा लेते हुए Hand Practice करने लगते हैं। इसलिए आप खुद को किसी न किसी काम में व्यस्त रखने का प्रयास करें। घर में कई तरह के काम होते हैं, आप अपने अनुसार कोई भी काम करके खुद को व्यस्त रखें।

3. एकांत में सावधान रहें:

अक्सर जब आप किसी भी स्थान पर, विशेष कर अपने घर पर अकेले होते हैं, तो पूरी तरह एकांत मिलते ही, आप का दिमाग सेक्स एक्टिविटी के लिए प्रेरित होने लगता है। आपको अच्छे से मालूम होता है कि आप अकेले हैं और आपको देखने वाला कोई नहीं है, तो इस स्थिति में अपने मन की करने को आप पूरी तरह आजाद होते हैं। इसी विशेष स्थिति में Hand Practice करने का कीड़ा मन में कुलबुलाने लगता है। इसके लिए आपको चाहिए कि पहले तो खुद को अकेलेपन से बचाए रखें। किसी कारण वश ऐसा संभव नहीं है, तो ऐसे समय पर खुद को नियंत्रण में रखें और सावधान रहें।

4. जीवन शैली में परिवर्तन करें:

बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिनकी जीवन शैली यानी लाइफ स्टाई हमेशा एक ही जैसी बनी रहती है। यानी सुबह से लेकर शाम तक उनकी दैनिक चर्या एक ही प्रकार की होती है। इस प्रकार की जीवन शैली का नुकसान यह होता है कि हम अपनी पुरानी लतों के आदी हो जाते हैं और इसी काण से हम अपनी हस्तक्रिया की लत से भी छुटकारा नहीं पा पाते।

इसे भी पढ़ें- शीघ्रपतन

कई लोग होते हैं जो बाथरूम में हस्मैथुन करते हैं, तो कुछ सोते समय और कुछ दिन में। बस इसी हिसाब से आपको खुद अपना टेस्ट करना है, कि आप किस समय हस्तक्रिया के लिए ज्यादा प्रेरित होते हो। अगर रात को हस्तक्रिया करने की आदत है, तो उस हिसाब से अपनी आदतें बदल लें। कुछ ऐसा करंे कि रात को आप हस्तक्रिया कर ही ना पाएं। यह बहुत ही असरकारी उपाय है। इससे इससे आप अपने माइंड को चेंज कर लोगे।

5. अच्छी संगति बनाएं:

हस्तक्रिया की आदत इस बात पर भी निर्भत करती है कि आपका फ्रैंड सरकल कैसा है, संगति कैसी, किस प्रकार के लोगों के साथ आप उठते-बैठते हो। साधारण सी बात है कि आपको हस्तक्रिया के विषय में पहली बार अपने मित्रों से पता चला होगा। हमारे दोस्तों में अगर ऐसे दोस्त हों, जो जब देखो केवल लड़कियों के बारे में ही बातें करते है या आवारा रहते हैं या फिर अपने काम या पढ़ाई को छोड़कर फालतू व बेकारी की बातों पर लगे रहते हैं, तो समझ लें कि आपकी संगति सही नहीं है और आपको अपनी संगति बदलने की जरूरत है।

ऐसे संगित आपके दिल-दिमाग में ऐसी-ऐसी बातें भर देंगे कि आप घर जाते ही Hand Practice करने के लिए मजबूर हो जाओगे। ऐसी संगित से खुद को सुरक्षित रखने का एकमात्र यही उपाय है कि हमेशा ऐसे लोगों के साथ जुड़ें अपनी जिंदगी में कुछ ऐसा कर रहे हों, जो उन्हें हमेशा बेटर बनाते जा रहा हो। हम जैसे माहौल में रहते है हम वैसे ही बन जाते हैं।

सेक्स से संबंधित अन्य जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.. http://chetanclinic.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *