Hastmaithun Ke Nuksan

Hastmaithun Ke Nuksan

हस्तमैथुन के नुकसान

हस्तमैथुन की लत के कारण आने वाली कमजोरियां-

masturbation, hastmaithun, hastmaithun ka ilaj in hindi

हस्तमैथुन जोकि अप्राकृतिक मैथुन की श्रेणी में आता है, यह यौन क्रिया का ही एक स्वरूप है। बढ़ती उम्र में यानी जवानी में कदम रख रहे युवा वर्ग हस्तमैथुन का अधिक प्रयोग करते हैं। हस्तमैथुन एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसमें अपनी यौनपिपासा को शांत करने के लिए पास में कोई साधन उपलब्ध न होने की स्थिति में स्त्री या फिर पुरूष हस्त द्वारा अपने गुप्तांग को सहला कर या घर्षण करके वीर्यपात कर लेते हैं, जिससे उनकी उत्तेजना शांत हो जाती है। यह पूरी प्रक्रिया हस्तमैथुन के अंतर्गत आती है।
संभव है कि हस्तमैथुन के कुछ फायदे हो सकते हो, बशर्ते माह में एक से दो बार किया जाये और सही तरीके से किया जाये तो। अत्यधिक मात्रा में अप्राकृतिक तरीके से वीर्य नष्ट करने से कई प्रकार की यौनिक समस्यायें व यौन कमजोरियां आने लगती हैं। लगातार हस्तमैथुन करने से परिणाम भंयकर साबित हो सकते हैं। यदि आप भी अत्यधिक हस्तमैथुन के कारण आई कमोरियों से परेशान हैं, तो यह हिंदी लेख आपके लिए हो सकता है वरदान साबित।

आप यह हिंदी लेख hastmaithun.co.in पर पढ़ रहे हैं..

क्यों पड़ जाती है हस्तमैथुन की लत?

जाहिर-सी बात है कि संभोग की तीव्र इच्छा होने पर, लेकिन पास में कोई साधन न होने की स्थिति में ही मजबूरी में या फिर शौकियातौर व्यक्ति हस्तमैथुन करता है। इस प्रकार कहा जा सकता है कि सेक्स की तीव्र इच्छा होने पर और एकांत भरे माहौल में अधिक रहना ही हस्तमैथुन के लिए सबसे ज्यादा जिम्मेदार कारक होते हैं। एक दृष्टिकोण से देखा जाये तो यह कोई रोग न होकर, एक बुरी लत है, जिससे छुटकारा पाने की आवश्यकता है।

इसके अलावा हस्तमैथुन के लिए कुछ अन्य कारण भी हो सकते हैं..

1. घर में अधिक समय एकांत मिले तो व्यक्ति हस्तमैथुन करने को बाध्य हो ही जाता है और धीरे-धीरे यह लत बन जाती है।

2. एकांत में अवसर मिलते ही अश्लील फिल्में देखना या अश्लील साहित्य पढ़ना।

3. बुरी संगति में अधिक रहना और अश्लील वातावरण में रहना।

4. हर वक्त सेक्स की इच्छा मन में होना।

5. हर वक्त किसी सुंदर स्त्री अथवा लड़की के नग्न अंग-प्रत्यंगों के बारे में सोचना।

हस्तमैथुन की लत और कमजोरियां-

Hastmaithun Ke Nuksan

अपनी कामोत्तेजना को शांत करने के लिए अपनाये जाने वाले कृत्रिम उपायों में से ही एक उपाय है हस्तमैथुन। बार-बार हस्तमैथुन करना नुकसानदायक साबित हो सकता है, स्वाथ्य के लिए भी और सेक्स लाईफ के लिए भी। हस्तमैथुन की आदत आपकी सेक्स लाईफ को प्रभावित कर सकती है, क्योंकि आपको केवल अपने स्पर्श की आदत हो जाती है, इसलिए जब आपकी महिला पार्टनर आपको स्पर्श करती है, तो आपको कोई सेक्स आनंद की अनुभूति नहीं होती है। या फिर उतनी नहीं हो पाती, जितनी होनी चाहिए।

यह भी पढ़ें- सुहागरात

हस्तमैथुन की आदत से होने की अन्य कमजोरियां..

1. शारीरिक कमजोरी और थकावट बने रहना।

2. निचले भाग में पीड़ा।

3. याददाश्त प्रभावित(कमजोर) होना

Hastmaithun Ke Nuksan

4. बाल पतले होकर झड़ने लगते हैं।

5. धात रोग का शिकार हो जाना।

6. लिंग में सम्पूर्ण तनाव की कमी।

7. अजीब सी स्थिति हो जाती है यानी उत्तेजना मन में पूरी होती है, मगर लिंग शिथिल ही पड़ा रहता है।

8. शीघ्रपतन से पीड़ित हो जाना।

हस्तमैथुन से छुटकारा पाने के उपाय-

1. रात को भोजन करने के उपरान्त रोजाना एक गिलास गर्म दूध पीयें या फिर केसर मिला हुआ दूध पीयें। यह उपाय हस्तमैथुन से उत्पन्न नकारात्मक प्रभावों को रोकने में मदद करता है। यह एक प्रकार का हर्बल उपचार का ही स्वरूप है।

2. रोजाना नियमित व्यायाम या अत्यधिक श्रम करना भी हस्तमैथुन की रोकथाम में अहम भुमिका निभाते है। जैसे पैदल चलना, जॉगिंग, योगा करना, साइकलिंग आदि।

यह भी पढ़ें- स्वप्नदोष

3. पूरी और गहरी नींद लेना भी बहुत आवश्यक है हस्तमैथुन के कुप्रभाव को रोकने के लिए।

4. अश्वगंधा चूर्ण के दो चम्मच को अगर प्रतिदिन रात को भोजन के बाद गरम दूध में मिलाकर पीया जाये तो इससे धीरे-धीरे हस्तमैथुन की इच्छा में कमी आने लगती है।

सेक्स समस्या की अन्य जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें..http://hastmaithun.co.in/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *